S.B.N.P. SAMAJ KALYAN SHIKSHA SAMITI

( A UNIT OF :- BRIJ NARAYAN PATHAK EDUCATION & WELFARE TRUST )

      Reg :- WC/BIT/279                                                                                                                       UDISE :- 10011700119

सभी छात्र / छात्राओं को सूचित किया जाता है कि दिनांक 10 अप्रैल 2023 से विद्यालय प्रातः 6:30 से 11:30 तक संचालित होगा ।

 

सभी छात्र / छात्राओं को सूचित किया जाता है कि अर्धवार्षिक परीक्षा दिनांक 15-09-2022 से दिनांक 27-09-2022 तक होना सुनिश्चित है । 

सभी छात्र / छात्राओं को सूचित किया जाता है कि कल दिनांक 31 मार्च 2022 को सुबह 9 बजे वार्षिक परीक्षाफल घोषित किया जायेगा ।

Message of the Author/Settlor:-

 
 

                  “शिक्षा केवल तथ्यों का संचय नहीं है; यह स्वयं जीवन की तैयारी है। यह छात्रों के व्यक्तित्व को विकसित करता है, उनके चरित्र को ढालता है और आज की जटिल दुनिया की समस्याओं और चुनौतियों से निपटने में उनकी मदद करने के लिए मानसिक कौशल विकसित करता है। सबसे महत्वपूर्ण चरित्र लक्षणों में से एक जो हमारे छात्रों में उनकी शिक्षा के दौरान पैदा करने की आवश्यकता है, वह है सेवा का एक सूक्ष्म दृष्टिकोण- स्वयं से पहले।हमारा उद्देश्य उन्हें न केवल जीवन में सफल बनाना है, बल्कि अपने साथी नागरिकों के प्रति अपने कर्तव्यों और जिम्मेदारियों के प्रति भी जागरूक करना है। इसी दृष्टिकोण के साथ 2015 में  “एस0 बी० एन० पी० समाज कल्याण शिक्षा समिति ” की स्थापना की गई और पिछले 8 वर्षों से हम गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान कर रहे हैैं।
                     हम इस तथ्य का अनुसरण करते हैं कि उत्कृष्टता की कोई सीमा नहीं है। हमारे स्कूल का उद्देश्य बच्चों को अनुकूल माहौल में समग्र शिक्षा की प्रणाली को बढ़ावा देना है जो मानवता और विज्ञान का संश्लेषण करती है और इस तथ्य को पहचानती है कि प्रत्येक बच्चा अद्वितीय है। हमारा मानना है कि शिक्षा को छात्रों को नैतिक, सामाजिक और आध्यात्मिक रूप से ऊँची उड़ान भरने में सक्षम बनाना चाहिए। हम मानते हैं कि हमारे छात्रों को यह सीखने की जरूरत है कि सफलता और संतोष का रहस्य अपनी ताकत और सीमाओं की खोज में है। इसलिए, हम शिक्षा के मानवतावादी आयामों पर जोर देते हैं। हमारे छात्रों को अवलोकन और निष्कर्ष तक पहुँचने की क्षमता विकसित करने में मदद करने के लिए तर्क और समस्या समाधान जैसे महत्वपूर्ण कौशल के शिक्षण को भी प्राथमिकता दी जाती है। हमारे  स्कूल का पाठ्यक्रम हमारे शिक्षकों को छात्रों के बीच रुचि और ध्यान को प्रोत्साहित करने और उनमें अतीत के मूल्यों, वर्तमान के उत्साह और भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार करता है।
                       हमें उम्मीद है  कि हमारी वेबसाइट आपकी रुचि को जगाएगी और आपको अपने जीवन में एक सकारात्मक परिवर्तन लाने की दिशा में अग्रसर होने के लिए प्रोत्साहित करेगी।”
                      Author/Settlor
                Brij Narayan Pathak
Brij Narayan Pathak Education & Welfare Trust

Message of the Principal:-

                       प्रधानाचार्य     

                          “शिक्षा एक रथ है जो राष्ट्र को समग्र विकास  के पथ पर ले जाता है । शिक्षा को समाज और विश्व की भलाई के लिए वांछनीय परिवर्तन लाने का एक शक्तिशाली साधन माना जाता है । इसलिए यह व्यक्तिगत और समाज के लिए अपरिहार्य है । 

                           महान शिक्षक , प्रसिध्द दार्शनिक और स्वतंत्र भारत के द्वितीय राष्ट्रपति डॉ0 एस0 राधाकृष्णन पूरी दुनिया को एक स्कूल मानते थे । उनका मानना था कि शिक्षा द्वारा ही मानव मस्तिष्क  का सदुपयोग किया जा सकता है । 

                         अच्छी आदते और चरित्र के विकास के लिए स्कूल के प्रारंभिक वर्ष महत्वपूर्ण है ।  हमारे विद्यालय “ एस0 बी० एन० पी० समाज कल्याण शिक्षा समिति ”  में  शिक्षा का उद्देश्य बच्चों में  उनके प्रारंभिक वर्षों में ज्ञान प्रदान करने के साथ नैतिक मूल्यों को विकसित करना है । हम बच्चों में ईमानदारी और अखंडता , धर्मनिरपेक्षता , बड़ों के प्रति सम्मान एवं आत्म अनुशासन के मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है ।  हमारे विद्यालय में लाइब्रेरी और वेबसाइट बच्चों के पठन -पाठन को  एक नई दिशा दी है ।  हम लगातार “जीवन कौशल ” विकसित करने की दिशा में प्रयास कर रहे है । “

                   ” नास्ति विद्या समं चक्षु

                    नास्ति सत्य समं तपः| 

                    नास्ति राग समं दुःखं

                    नास्ति त्याग समं सुखं|| ”    (शांतिपर्व, महाभारत)

विद्या के समान नेत्र नहीं है, सत्य के समान तपस्या नहीं है,
आसक्ति के समान दुःख नहीं है, त्याग के समान सुख नहीं है।”    

                             Principal

                          Gajanand Pathak

         S.B.N.P. Samaj Kalyan Shiksha Samiti

‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’

अमृत महोत्सव, 15 अगस्त 2022 से 75 सप्ताह पूर्व 15 अगस्त 2021 को  प्रारंभ हुआ है और 15 अगस्त 2023 तक चलेगा।

अमृत महोत्सव के पाँच स्तंभों पर विशेष ज़ोर दिया गया है। FREEDOM STRUGGLE आइडियाज AT 75, ACHIEVEMENTS AT 75, ACTIONS AT 75, और RESOLVES AT 75, ये पांचों स्तम्भ आज़ादी की लड़ाई के साथ-साथ आज़ाद भारत के सपनों और कर्तव्यों को देश के सामने रखकर आगे बढ़ने की प्रेरणा देंगे। इन्हीं संदेशों के आधार पर आज ‘अमृत महोत्सव’ की वेबसाइट के साथ साथ चरखा अभियान और आत्मनिर्भर इनक्यूबेटर को भी लॉन्च किया गया है।